| Ramganga Nagar Bareilly | Residential Plots in Bareilly |

Plots in Ramganga nagar bareilly

Ramganga Nagar Bareilly

The construction of the new office of Bareilly Development Authority (BDA) has started in Sector-2 of Ramganga Nagar. BDA has released the map of this building being built at a cost of about 20 crores in February itself.

BDA Vice Chairman Joginder Singh informed that the office is being constructed in an area of ​​18784  sqm. Equivalent to this, by constructing a pond in an area of ​​36 thousand square meters, . The Zonal road will be 45 meters wide. The office will be equipped with all modern facilities. Parking for car, bike and cycle will be made separately. Along with the canteen, many more facilities will be available to BDA personnel and people visiting the office.

BDA New Office Under Construction
BDA New Office Under Construction

Road will be hundred feet wide, palm trees will be planted on both sides

In the Ramganga Nagar housing scheme, the Bareilly Development Authority is planning to widen the road leading to Sector 1 to 100 feet. After the widening of the road, date palm trees will be planted on both sides of it. This road will be identified as the gateway of the housing scheme.

45 meter wide road , Ramganga Nagar Pariyojna bareilly
45 meter wide road

Bareilly Development Authority is beautifying its main roads to shine the Ramganga Nagar housing scheme. The Executive Club Road coming to Sector 1 will be widened by 100 feet. To develop it as Palm Street, palm trees will be planted on both sides. On reaching this road, people will realize that they are close to Ramganga Nagar. BDA engineers have started the work of planting trees along with the widening of the road. BDA Vice Chairman Joginder Singh said that Palm Street will give comfort to the people. This route will be recognized as the gateway of the scheme.

SSB’s transit camp to be built in Ramganga Nagar Bareilly

In the development of the city, the Bareilly Development Authority on Thursday added another kadhi. BDA has given land to SSB for setting up a transit camp under Ramganga Nagar Awas Yojana. The BDA provided the relevant forms to the officers of the SSB.

Sashastra Seema Bal Transit Camp in Ramganga Nagar Bareilly
SSB Now will have transit camp in Ramganga Ganga nagar Bareilly

The Sashastra Seema Bal (SSB) camp is in Pilibhit district. Along with this, there are posts of this paramilitary force in the border areas of Uttarakhand. SSB is also deployed on the Indo-Nepal border of Pilibhit and Lakhimpur Kheri. There is no place to rest in between for the movement of paramilitary officers and jawans. Due to this SSB officials were looking for land for transit camp in Bareilly for a long time. Talks were also going on with the administrative officials in this regard.

Meanwhile, the rapidly developing BDA’s ambitious Ramganga Nagar housing scheme was noticed by the officials. On the demand of SSB officers, BDA showed about five thousand square meters of land for transit camp near the under construction office of the authority in Sector 2 of the housing scheme. On this the SSB officers agreed. BDA sold five thousand square meters of land to SSB for ten crore rupees.

In this transit camp, soldiers will be able to take rest on the way to the border and while returning. This will also increase the sense of security among the local allottees. The hope of development of the scheme has increased soon. BDA Vice Chairman Joginder Singh informed that land has been sold to SSB for transit camp under Ramganga Nagar Awas Yojana. This shows that along with the general public, the central and state government departments are also excited to set up their offices in Ramganga Nagar.

Five more new colonies will come up in Ramganga project

Bareilly Development Authority has started preparations to develop five more new colonies in Ramganganagar housing project. Among them, Brahmaputra has also been launched. Now Saryu, Saraswati, Sabarmati and Shipra Colony will be settled.

BDA VC Joginder Singh informed that allotment of plots has been done in Ganga, Narmada, Kaveri and Alaknanda gated colonies. Keeping in view the growing demand of these colonies full of greenery and equipped with modern facilities, BDA will launch Brahmaputra Enclave by October 15 After this Saryu, Saraswati, Sabarmati and Shipra will be settled. The people of the city will also get big plots in these colonies. The largest plots will be of 1000 square meters. After this, there will be plots of two hundred square meters and 162 square meters. The smallest plot will be of 72 sqm. BDA VC said that till now plots of 1000 sqm were not cut in any colony launched in Ramganga project. Big plot will start from Brahmaputra itself

Parks will be developed in all colonies

The new five colonies will be full of greenery. Parks will be developed in all the colonies. BDA VC said that all cable lines including electricity, water will be underground in these colonies. Apart from the lights on the roads, saplings will be planted on two meter wide dividers.

Commercial plots registration open in RGN
Commercial plots registration open in RGN

1599 plots will be in five colonies

There will be 1599 plots in the five colonies to be set up under the Ramganga Nagar project. Till now BDA has done open sale of more than 600 plots in Ramganganagar project. BDA VC Joginder Singh informed that there will be 385 plots in Brahmaputra, 385 in Saryu, 51 in Saraswati, 300 in Sabarmati and 478 in Shipra.

LIC’s office will also be there

LIC’s head office will also be located in the colony being built in the Ramganganagar residential project. LIC has sought space from Bareilly Development Authority to open offices at four places. Among these, the district headquarters will be at Ramganganagar. Apart from this, another office will be opened here. At the same time, land has been sought for Izzanagar area and city branch. BDA VC informed that plots will be provided to them in Ramganga and BDA will provide land at two other places also.

Hindi Version

रामगंगा नगर बरेली में बीडीए कार्यालय शुरू

रामगंगा नगर के सेक्टर-2 में बरेली विकास प्राधिकरण (बीडीए) के नए कार्यालय का निर्माण कार्य शुरू हो गया है. करीब 20 करोड़ की लागत से बन रहे इस भवन का नक्शा बीडीए ने फरवरी में ही जारी कर दिया है।

बीडीए के उपाध्यक्ष जोगिंदर सिंह ने बताया कि कार्यालय का निर्माण 18784 वर्गमीटर क्षेत्र में किया जा रहा है. इसके समकक्ष 36 हजार वर्ग मीटर क्षेत्र में तालाब का निर्माण कर . जोनल रोड 45 मीटर चौड़ी होगी। कार्यालय सभी आधुनिक सुविधाओं से लैस होगा। कार, ​​बाइक और साइकिल के लिए अलग-अलग पार्किंग बनाई जाएगी। कैंटीन के साथ ही बीडीए कर्मियों और कार्यालय आने वाले लोगों को और भी कई सुविधाएं मिलेंगी.

सौ फीट चौड़ी होगी सड़क, दोनों तरफ लगेंगे ताड़ के पेड़

रामगंगा नगर आवास योजना में बरेली विकास प्राधिकरण सेक्टर 1 से 100 फीट तक जाने वाली सड़क को चौड़ा करने की योजना बना रहा है। सड़क के चौड़ीकरण के बाद इसके दोनों ओर खजूर के पेड़ लगाए जाएंगे। इस सड़क की पहचान आवास योजना के प्रवेश द्वार के रूप में की जाएगी।

रामगंगा नगर आवास योजना को चमकाने के लिए बरेली विकास प्राधिकरण अपनी मुख्य सड़कों का सौंदर्यीकरण कर रहा है। सेक्टर 1 में आने वाले एग्जीक्यूटिव क्लब रोड को 100 फीट चौड़ा किया जाएगा। इसे पाम स्ट्रीट के रूप में विकसित करने के लिए दोनों तरफ ताड़ के पेड़ लगाए जाएंगे। इस सड़क पर पहुंचने पर लोगों को एहसास होगा कि वे रामगंगा नगर के करीब हैं। बीडीए इंजीनियरों ने सड़क चौड़ीकरण के साथ पेड़ लगाने का काम शुरू कर दिया है. बीडीए के वाइस चेयरमैन जोगिंदर सिंह ने कहा कि पाम स्ट्रीट लोगों को सहूलियत देगी. इस मार्ग को योजना के प्रवेश द्वार के रूप में मान्यता दी जाएगी।

Palm Trees on Wide Road of Ramganga Nagar Bareilly

रामगंगा नगर बरेली में बनेगा एसएसबी का ट्रांजिट कैंप

शहर के विकास में बरेली विकास प्राधिकरण ने गुरुवार को एक और कढ़ी जोड़ी। बीडीए ने रामगंगा नगर आवास योजना के तहत ट्रांजिट कैंप लगाने के लिए एसएसबी को जमीन दी है। बीडीए ने एसएसबी के अधिकारियों को संबंधित फॉर्म उपलब्ध कराए।

सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) शिविर पीलीभीत जिले में है। इसके साथ ही उत्तराखंड के सीमावर्ती इलाकों में इस अर्धसैनिक बल की चौकियां हैं। एसएसबी भारत-नेपाल सीमा पीलीभीत और लखीमपुर खीरी पर भी तैनात है। अर्धसैनिक अधिकारियों और जवानों की आवाजाही के लिए बीच में आराम करने की जगह नहीं है। इसके चलते एसएसबी के अधिकारी काफी समय से बरेली में ट्रांजिट कैंप के लिए जमीन की तलाश कर रहे थे। इस संबंध में प्रशासनिक अधिकारियों से भी बातचीत चल रही थी। इस बीच, तेजी से विकसित हो रहे बीडीए की महत्वाकांक्षी रामगंगा नगर आवास योजना पर अधिकारियों की नजर पड़ी। एसएसबी अधिकारियों की मांग पर बीडीए ने आवास योजना के सेक्टर 2 में प्राधिकरण के निर्माणाधीन कार्यालय के पास ट्रांजिट कैंप के लिए करीब पांच हजार वर्ग मीटर जमीन दिखाई. इस पर एसएसबी अधिकारियों ने सहमति जताई। बीडीए ने पांच हजार वर्ग मीटर जमीन एसएसबी को दस करोड़ रुपये में बेची। इस ट्रांजिट कैंप में सीमा के रास्ते और लौटते समय सैनिक आराम कर सकेंगे। इससे स्थानीय आवंटियों में सुरक्षा की भावना भी बढ़ेगी। जल्द ही योजना के विकास की उम्मीद बढ़ गई है। बीडीए के उपाध्यक्ष जोगिंदर सिंह ने बताया कि रामगंगा नगर आवास योजना के तहत ट्रांजिट कैंप के लिए एसएसबी को जमीन बेच दी गई है. इससे पता चलता है कि आम जनता के साथ-साथ केंद्र और राज्य सरकार के विभाग भी रामगंगा नगर में अपने कार्यालय स्थापित करने को लेकर उत्साहित हैं।

रामगंगा परियोजना में बनेगी पांच और नई कॉलोनियां

बरेली विकास प्राधिकरण ने रामगंगानगर हाउसिंग प्रोजेक्ट में पांच और नई कॉलोनियां विकसित करने की तैयारी शुरू कर दी है। इनमें ब्रह्मपुत्र को भी लॉन्च किया गया है। अब सरयू, सरस्वती, साबरमती और शिप्रा कालोनी को बसाया जाएगा।

बीडीए वीसी जोगिंदर सिंह ने बताया कि गंगा, नर्मदा, कावेरी और अलकनंदा गेटेड कॉलोनियों में भूखंडों का आवंटन हो चुका है. हरियाली से भरपूर और आधुनिक सुविधाओं से लैस इन कॉलोनियों की बढ़ती मांग को देखते हुए बीडीए 15 अक्टूबर तक ब्रह्मपुत्र एन्क्लेव का शुभारंभ करेगा इसके बाद सरयू, सरस्वती, साबरमती और शिप्रा को बसाया जाएगा. इन कॉलोनियों में शहर के लोगों को बड़े प्लॉट भी मिलेंगे। सबसे बड़ा प्लॉट 1000 वर्ग मीटर का होगा। इसके बाद दो सौ वर्ग मीटर और 162 वर्ग मीटर के भूखंड होंगे। सबसे छोटा प्लॉट 72 वर्गमीटर का होगा। बीडीए वीसी ने कहा कि रामगंगा परियोजना में शुरू की गई किसी भी कॉलोनी में अब तक 1000 वर्गमीटर के प्लॉट नहीं काटे गए। ब्रह्मपुत्र से ही शुरू होगा बड़ा प्लॉट

सभी कॉलोनियों में विकसित होंगे पार्क

नई पांच कॉलोनियां होंगी हरियाली से भरपूर सभी कॉलोनियों में पार्क विकसित किए जाएंगे। बीडीए वीसी ने कहा कि इन कॉलोनियों में बिजली, पानी समेत सभी केबल लाइन अंडरग्राउंड होंगी. सड़कों पर रोशनी के अलावा दो मीटर चौड़े डिवाइडर पर पौधे लगाए जाएंगे।

पांच कॉलोनियों में होंगे 1599 प्लॉट

रामगंगा नगर परियोजना के तहत बनने वाली पांच कॉलोनियों में 1599 प्लॉट होंगे। अब तक बीडीए रामगंगानगर परियोजना में 600 से अधिक भूखंडों की खुली बिक्री कर चुका है। बीडीए वीसी जोगिंदर सिंह ने बताया कि ब्राहौ में 385 प्लॉट होंगे